• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Baandi

Baandi

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 195

Special Price Rs. 176

10%

  • Pages: 255
  • Year: 2018, 1st Ed.
  • Binding:  Paperback
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 13: 9789386863171
  •  
    प्रस्तुत उपन्यास ह्रासशील सामंतवाद को उसके सम्पूर्ण घिनौने पहलुओं के साथ, बड़ी बारीकी से हमारे समक्ष पेश करता है | इस ह्रासशील सामंतवाद को उसकी सारी सड़ांध के साथ हम बड़े सरकार के चरित्र, उनके क्रियाकलापों, जो उनके अन्तःपुर से लेकर बाहर के परिवेश तक फैले हुए हैं , सामन्ती-साम्राजी सांठगांठ और उसके शिकार साधारण जनों की जिंदगी तथा नरक की इस जिंदगी से मुक्त होने की उनकी कोशिशों तथा मुक्त न हो पाने की स्थिति में उनकी छटपटाहट

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Bhairavprasad Gupt

    भैरवप्रसाद गुप्त

    जन्म : 7 जुलाई 1918 को सिवानकला गाँव (बलिया, उ॰प्र.) ।

    शिक्षा : इविंग कॉलेज, इलाहाबाद से स्नातक ।

    अपने शिक्षक की प्रेरणा से कहानी लेखन की ओर रुझान हुआ । जगदीशचन्द्र माथुर, शिवदान सिंह

    चौहान जैसे लेखकों एवं आलोचकों के सम्पर्क और साहित्यक-राजनीतिक परिवेश में उनके रचनात्मक संस्कारों को दिशा मिली ।

    सन् 1940 में मजदूर नेताओँ से सम्पर्क । सन् 1944 में माया प्रेस, इलाहाबाद है जुडे । अपने अन्य समकालीनों की तरह आर्य समाज और गाँधीवादी राजनीति की राह से बामपंथी राजनीति की ओर आये । सन 1948 में वे कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य बने ।

    प्रमुख प्रकाशित पुस्तकें : उपन्यास-शोले, मशाल, गंगा मैया, जंजीरें और नया आदमी, सत्ती मैया का चौरा, धरती, आशा, कालिन्दी, रम्भा, अंतिम अध्याय, नौजवान, एक जीनियस की प्रेमकथा, भाग्य देवता, अक्षरों के आगे (मास्टर जी) , 'छोटी-सी शुरुआत , कहानी संग्रह-मुहब्बत्त की राहें, फरिश्ता, बिगडे हुए दिमाग, इंसान, सितार के तार, बलिदान की कहानियाँ, मंजिल, महफिल, सपने का अंत, आँखों का

    सवाल, मंगली की टिकुली, आप क्या कर रहे हैं ? नाटक और एकांकी-कसौटी, चंदबरदाई, राजा का बाण । सम्पादित पत्रिकाएँ-माया, मनोहर कहानियाँ, कहानी, उपन्यास, नई कहानियाँ, समारंभ-1, प्रारंभ ।

    निधन: 5 अप्रैल, 3995

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna

    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144