• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Bharat Vibhajan Ke Gunaghar

Bharat Vibhajan Ke Gunaghar

Availability: Out of stock

Regular Price: Rs. 75

Special Price Rs. 67

11%

  • Pages: 94
  • Year: 2017
  • Binding:  Paperback
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 13: 9788180313486
  •  
    भारत की आजादी के साथ जुड़ी देश-विभाजन की कथा बड़ी व्यथा-भरी है । आजादी के सुनहरे भविष्य के लालच में देश की जनता ने देश-विभाजन का जहरीला घूँट दवा की तरह पी लिया, लेकिन यह प्रश्न आज तक अनुत्तरित ही बना हुआ है कि क्या भारत- विभाजन आवश्यक था ही? इस सम्बन्ध में मौलाना अबुलकलाम आजाद ने अवश्य लिखा है और उन्होंने विभाजन की जिम्मेदारी तत्कालीन अन्य नेताओं पर लादी है । डी० राममनोहर लोहिया ने विभाजन के निर्णय के समय होने वाली सभी घटनाओं को प्रत्यक्ष देखा था और इस पुस्तक में उन्होंने देश- विभाजन के कारणों और उस समय के नेताओं के आचरण पर बड़ी निर्भीकता से विश्लेषण प्रस्तुत किया है । लोहिया जी इस देश-विभाजन को नकली मानते थे और उनका विश्वास था कि एक दिन फिर देश के बँटे हुए टुकड़े एक होकर पूरा भारत एक बनाएँगे । लोहिया का यह सपना सच हो, यही कामना हम भी करते हैं । -ओंकार शरद

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Rammanohar Lohiya

    डॉ. राममनोहर लोहिया

    जन्म : अकबरपुर (फ़ैजाबाद, उ.प्र.), 23 मार्च, 1910

    शिक्षा : अकबरपुर, बनारस और कलकत्ता में ! बर्लिन विश्वविद्यालय से 1933 ई. में अर्थशास्त्र में पी. एच. डी. !

    गतिविधियाँ : 1934 में कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक सदस्य, राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य, 'कांग्रेस सोशलिस्ट' (अंग्रेजी साप्ताहिक, कलकत्ता) का संपादन ! 1936-38 में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के विदेश-सचिव ! 1942 की अगस्त क्रांति का नेतृत्व, विशेष रूप में कांग्रेस रेडियो का संचालन ! 1944 के आरम्भ में गिरफ़्तारी, लाहौर के किले में यातनाएँ ! 1946 में रिहाई के दो महीने बाद ही गोवा के मुक्ति संग्राम का नेतृत्व, नेपाल के लोकतान्त्रिक आन्दोलन का (1950 तक) मार्ग-दर्शन ! 1946 में बंगाल और बाद में दिल्ली में गाँधी जी के शांति प्रयत्नों में सक्रिय योग ! 1948 में हिन्द किसान पंचायत के अध्यक्ष ! 1947-51 समाजवादी दल की विदेश निति समिति के सम्मलेन में भारतीय प्रतिनिधि के रूप में यूरोप यात्रा, 1951 में विश्व यात्रा ! 1954, प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के महामंत्री ! 1955-56, सोशलिस्ट पार्टी की स्थापना, प्रथम अध्यक्ष ! 1958, अंग्रेजी हटाओ, दाम बांधों, और जाति विनाश आंदोलनों का सूत्रपात और संगठन ! 1962 में फर्रुखाबाद उ.प्र. से उपचुनाव में लोकसभा के सदस्य निर्वाचित ! 1964 में अमरीका यात्रा और रंगभेद के विरुद्ध सिविल नाफ़रमानी करने पर गिरफ़्तारी ! 1966 में रूस और पूर्वी जर्मनी की यात्रा 1937 से 1966 के बीच ब्रितानी, पुर्त्तगाली, और कांग्रेसी शासनों द्वारा कुल 18 बार गिरफ़्तारी !

    निधन : नई दिल्ली के बिलिंग्दन अस्पताल में 12 अक्टूबर, 1967 !

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna

    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144