• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Naali Per Mochi

Naali Per Mochi

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 150

Special Price Rs. 135

10%

  • Pages: 127p
  • Year: 2009
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Radhakrishna Prakashan
  • ISBN 13: 9788183613491
  •  
    जीवन की मूलभूत आवश्यकताओं से वंचित मोचियों के लिए दो समय की रोटी का जुगाड़ ही सबसे बड़ा प्रश्न है । फटे–पुराने जूते–चप्पलों को अपने हुनर से फिर पहनने योग्य बनानेवाले मोचियों की दशा चिन्ताजनक है । कान से मैल (खुट) निकालने से लेकर इक्का चलाने तक का सप़़र तय करने के बाद अब पेट के लिए मोची के काम से जुड़े लोगों के लिए देश की आज़ादी एक सपना बनकर रह गई है । नालियों के ऊपर, पेशाबखाने के बगल में (जिसकी बदबू को बर्दाश्त करना मुश्किल है), कूड़े के ढेर पर तथा बिजली के खम्भों के सहारे, सड़क के किनारे अपनी कटरनी, हथौड़े, कील, सुई, ब्रश, पॉलिश, टीनटँगा तथा /ाागा आदि लेकर बैठे मोचियों के लिए पेट भरने की समस्या बहुत बड़ी है । उनके पास न तो शौचालय हैं और न ही पीने के लिए साफ पानी । मकान, बिजली और शिक्षा तो एक सपना है । किसी के लिए चबूतरा तो किसी के लिए रेलवे स्टेशन रहने का सबसे बड़ा घर है । श्मशान घाट पर मुर्दों को जलाने के लिए गंगापार से नाव द्वारा आई लकड़ी को सीढ़ियों से ऊपर चढ़ाते–चढ़ते थक चुके व्यक्ति के लिए मोची का काम पेट भरने का एकमात्र सा/ान है । जिन चमकते जूतों को पहनकर इनसान अपनी इज्जत बढ़ाता है, उन हाथों (मोची) की ओर देखने की जिम्मेवारी किसकी है ? आखिर हाशिये पर पड़े मोचियों की आवाज कौन सुनेगा ?

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Manju Devi

    जन्म स्थान: बनारस।

    पृष्ठभूमि: अति निर्धन, भूमिहीन एवं स्वतन्त्रता सेनानी परिवार में जन्म।

    शिक्षा: एम.ए., पी-एच.डी. (बी.एच.यू.)।

    प्रकाशित पुस्तकें: सोशिलाइजेशन ऑफ वूमेन इन इंडिया; बच्चों की प्रतिभा को कैसे उभारें?

    ‘हंस’, ‘गांधी-मार्ग’, ‘जनसत्ता’, ‘नवभारत टाइम्स’ आदि पत्र-पत्रिकाओं में विचार, पत्र एवं प्रतिक्रियाएँ व्यापक रूप से प्रकाशित।

    पुरस्कार: विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित (1987), विवेकानन्द जयन्ती के अवसर पर निबन्ध प्रतियोगिता (राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका) में प्रथम पुरस्कार।

    अन्य: कार्यक्रम अधिकारी, राष्ट्रीय सेवा योजना, रूहेलखंड विश्वविद्यालय, बरेली और पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर।

    अनेक राष्ट्रीय सेमिनार तथा वर्कशॉप में भागीदारी।

    वर्तमान पद: रीडर (मनोविज्ञान), काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, ज्ञानपुर, संत रविदासनगर, भदोही।

    स्थायी पता: ए-9/123, प्रहलाद घाट, वाराणसी।

    फोन: 0542-2436714

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna

    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144