• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Ramchandra Shukla Ke Sameeksha Siddhanta Aur Geeta Rahasya

Ramchandra Shukla Ke Sameeksha Siddhanta Aur Geeta Rahasya

Availability: Out of stock

Regular Price: Rs. 75

Special Price Rs. 67

11%

  • Pages: 92p
  • Year: 1998
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Rajkamal Prakashan
  • ISBN 10: RSKS257
  •  
    गांधीजी से पूर्व राष्ट्रीय आदोलन मे मिलक सबसे तेजस्वी राष्ट्रीय नेता थे । तिलक अर्थात् उग्र राष्ट्रवाद । भारतीय, इतिहास परंपरा एव सस्कृति का प्रगाढ पांडित्‍य तथा पश्चिमी विचारों के मुकाबले मे भारत की बौद्धिक गरिमा और अस्मिता की रक्षा का अविराम सघर्ष उनके व्यक्तित्व का अभिन्न अंग था ( यही कारण था कि उस युग के अनेक देशभक्त कवि - लेखक उनके प्रति आकृष्ट हुए । इस वातावरण में आचार्य शुक्ल जैसे देशभक्त साहित्यकार का तिलक के प्रति आकृष्ट होना स्वाभाविक था । शुक्लजी 'के बौद्धिक निर्माण काल में तिलक का अमर ग्रंथ गीता -रहस्य हिंदी में प्रकाशित हु आ जो भारत के सांस्कृतिक पनर्जागरण. और राष्ट्रीय जागरण अ घोषणापत्र -कैसा था । शुक्लजी के बौद्धिक निर्माण में इस ग्रंथ की भूमिका के पर्याप्त साक्ष्य उपलब्ध 'हैं । उनकी रचना ओं में आए क्षात्रधर्म लोकधर्म लोकसंग्रह कर्मसौंदर्य साधनावस्था सिद्धावस्था जैसे अंनेक पारिभाषिक शब्दों के आधुनिक भारतीय चितन मे प्रचलन का श्रेय गीता -रहस्य को ही है । अन्य बाहय प्रभावों की तरह गीता -रहस्य का प्रभाव भी उनकी चितन-प्रक्रिया में घुल - मिलकर ?? हो गया है जिसे पहचानने का कठिन कार्य इस लघु शो ध - प्रबध मे किया गया है 1 लेकिन नीता - रहस्य के प्रभावी की पड़ताल करते समय भी लेखिका का ध्‍यान शुक्लजी की मौलिकता पर केंद्रित रहा है औग् यह इस प्रबं ध की एक बडी विशेषता है ।

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Sameeksha Thakur

    समीक्षा ठाकुर

    जन्म: 18 मार्च, 1968; वाराणसी। शिक्षा: स्कूली शिक्षा वाराणसी में। दिल्ली विश्वविद्यालय से बी.ए. ऑनर्स (हिंदी) प्रथम श्रेणी से (1988), एम.ए. प्रथम श्रेणी में (1990) तथा एम.फिल. प्रथम श्रेणी में (1991)।

    वृत्ति: लगभग डेढ़ साल तक दिल्ली के जीसस एंड मेरी कॉलेज में प्राध्यापन। मुख्य हॉबी पेंटिंग।

    संप्रति: आचार्य रामचन्द्र शुक्ल के साहित्येतिहास पर शोध-कार्य में संलग्न।

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna

    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144