• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Maujood

Maujood

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 250

Special Price Rs. 225

10%

  • Pages: 124
  • Year: 2017, 2nd Ed.
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Radhakrishna Prakashan
  • ISBN 13: 9788183616966
  •  
    राहत साहब मेरे बड़े पुराने दोस्त हैं, लगभग चालीस बरस से मेरी और उनकी दोस्ती कायम है ! वो एक बड़े शायर और एक सच्चे इन्सान हैं ! सच्चा इन्सान उसे कहता हूँ, जो अच्छाइयों को ही नहीं बुराइयों को भी प्यार कर सके ! मेरा व्यक्तित्व भी अच्छाइयों और बुराइयों का नमूना है और राहत का भी ! इसीलिए तो मैं कहता हूँ कि फरिश्तों के टूटे हुए ख्याब का एक नाम राहत है ! राहत ने जीवन और जगत के विभिन्न पहलुओं पर जो गजले कही हैं, वो हिंदी-उर्दू की शायरी के लिए एक नया दरवाजा खोलती हैं ! वर्तमान परिवेश पर जो टिप्पणी उन्होंने अपनी गजलों में की है वो आज की राजनीती, आज की साम्प्रदायिकता, धार्मिक पाखण्ड और पर्यावरण पर बड़े ही मार्मिक भाव से की है ! छोटी-बड़ी बहर की गजल में उनका प्रतीक और बिम्ब विद्यमान है, जो नितान्त मौलिक और अद्वितीय है ! उनके कितने ही शेर ऐसे हैं जो जुबान पर बरबस बैठे जाते हैं ! नए रदीफ़, नई बहर, नए मजमून, नया शिल्प उनकी गजलों में जादू की तरह बिखरा है और पढने व् सुननेवाले सभी के दिलों पर छ जाता है ! राहत की शायरी तसव्वुफ़ की उच्चतम ऊँचाइयों तक पहुंचती है ! उनका ये शेर मेरे जेहन में अक्सर कौंधता रहता है – किसने दस्तक दी है दिल पर, कौन है? आप तो अन्दर हैं, बाहर कौन है... भाई राहत की सोच एक सच्चे इन्सान की सोच है ! वो यद्यपि अपनी उम्र से अधेड़ दिखाई पड़ते हैं लेकिन आज भी उनके दिल में एक मासूम-सा बच्चा है जो बिना किसी भयके सच बोलना जनता है ! मुझे विश्वास है कि पाठक उनके इस गजल-संग्रह ‘मौजूद’ को भी बड़े प्यार और सम्मान से ग्रहण करेंगे !

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Rahat Indori

    डॉ. राहत इन्दौरी का जन्म 1 जनवरी, 1950 को इंदौर में श्री रिफतुल्लाह और मकबूल बी के घर में हुआ ! उन्होंने उर्दू में एम्.ए. और पी-एच.दी. करने के बाद इंदौर विश्वविद्यालय में सोलह वर्षों तक उर्दू साहित्य अध्यापन और त्रैमासिक पत्रिका ‘शाखें’ का 10 वर्षों तक संपादन किया ! पचास से अधिक लोकप्रिय हिंदी फिल्मों एवं म्यूजिक अल्बमों के लिए गीत लेखन कर चुके हैं तथा सभी प्रमुख गजल गायकों ने उनकी गजलों को अपनी आवाज दी है ! अब तक उनके छः कविता-संग्रह प्रकाशित और समादृत हो चुके हैं ! पिछले 40-50 वर्षों से लगातार देश-विदेश के मुशायरों और कवी-सम्मेलनों में शिरकत ! अब तक अमेरिका, कनाडा, इंग्लैंड, सिंगापूर, मोरिशस, सऊदी अरब, कुवैत, बहरीन, ओमान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल आदि अनेक देशों की अनेकानेक यात्राएँ कर चुके हैं और देश-दुनिया के दर्जनों पुरस्कारों से सम्मानित हैं !

    सम्पर्क : पोस्ट बॉक्स 555, इन्दौर।

    rahatindoripost@gmail.com

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna

    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144