• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Vajood Aurat Ka : Stri Vimarsh Pratinidhi Paath

Vajood Aurat Ka : Stri Vimarsh Pratinidhi Paath

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 299

Special Price Rs. 269

10%

  • Pages: 328p
  • Year: 2020, 1st Ed.
  • Binding:  Paperback
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Rajkamal Prakashan
  • ISBN 13: 9789389577105
  •  
    दुनिया की सर्वाधिक प्रतिष्ठित नारीवादी लेखिका ग्लोरिया स्टायनेम ने अपने कुछ शुरुआती साल भारत में बिताए हैं। जिस दौरान ग्लोरिया भारत में थीं, वे इस गाँधीवादी विचार से प्रभावित हुईं कि परिवर्तन को हमेशा एक वृक्ष की तरह नीचे से ऊपर की ओर बढऩा चाहिए। इसके बाद, अमेरिका और विश्व-भर के नारीवादी आंदोलनों के लिए किए गए अपने कई दशकों के काम से उन्होंने सीखा कि कर्ता और कारक, शासक और शासित, 'मर्द’ और 'औरत’ के रूप में मनुष्यों के झूठे बँटवारे की आड़ में हिंसा और वर्चस्व का सामान्यीकारण किया जाता रहा है। 'वजूद औरत का’ में, ग्लोरिया स्टायनेम और एक्टिविस्ट रुचिरा गुप्ता ने साथ मिलकर ग्लोरिया के कुछ अभूतपूर्व निबंधों का एक चुनिन्दा संग्रह बनाया है। ये वे निबंध हैं जो अपने लिखे जाने के बाद से, सीमाओं से बेपरवाह दुनिया-भर में पहुँच गए और आधुनिक नारीवादी विचारों के एक बड़े हिस्से के लिए नींव तैयार की। इन पन्नों में, ग्लोरिया ने यह सच्चाई खोल कर रख दी है कि स्त्री शरीर पर नियंत्रण के ज़रिए ही नस्लीय और जाति और वर्ग आधारित भेद-भाव अपनी जड़ें जमाए हुए हैं—ग्लोरिया यह भी बताती हैं कि किन-किन तरहों से स्त्री और पुरुष इस नियंत्रण के लिए आपस में लड़ रहे हैं। वह बड़े ही शानदार ढंग से पुरुषत्व के प्रति अडोल्फ़ हिटलर की सनक का विश्लेषण करती हैं और उसके व्यक्तित्व में जड़ें जमाते हुए हिंसा के लैंगिक विचार को उभरता हुआ पाती हैं। उन्होंने कामुक साहित्य (इरोटिका) और पोर्नोग्राफ़ी के अंतर को समझाया है और स्पष्ट किया है कि यह अंतर दोनों लिंगों के मध्य संबंधों को नियंत्रित करने वाली असमानता के कारण पैदा होता है। एक प्लेबॉय बनी के रूप में बिताए गए कुछ दिनों के अपने मार्मिक अनुभव के अलावा इस किताब में ग्लोरिया द्वारा देहव्यापार के लिए की जाने वाली मानव तस्करी पर लिखा गया और अब तक अप्रकाशित निबंध 'तीसरी राह’ भी शामिल है। 'वजूद औरत का’ एक अध्ययनशील नज़रिए से लिखी गई किताब है जिसमें काफ़ी गहराई है। इस किताब को ऐसे अंदाज़ में लिखा गया है कि इसमें मौजूद जटिल बहसें भी सहजता के स्पर्श के कारण पढऩे वाले को एकदम सरल रूप में समझ आती हैं। इस संग्रह में आपको नए विचार, ग़ुस्सा, गंभीरता और हँसी और एक दोस्त, सबकुछ मिलेगा।

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Gloria Steinem

    ग्लोरिया स्टायनेम

    25 मार्च,1934 को टोलेडो, ओहायो में जन्मी ग्लोरिया स्टायनेम एक लेखिका, वक्ता और आयोजक हैं, जिनका अब तक का काम पिछले चालीस सालों से अमेरिका और अन्य कई देशों में नारीवादी क्रान्ति का मूल हिस्सा रहा है। वे ङ्क्षलग व नस्ल, जाति व वर्ग और ङ्क्षलग व हिंसा के बीच की कडिय़ाँ तलाशने में $खासतौर पर दिलचस्पी रखती हैं। ग्लोरिया ने पत्रकारिता से अपने पेशेवर जीवन की शुरुआत की और न्यूयॉर्क व एमएस मैगज़ीन की सह-संस्थापक बनीं। इनमें 'एमएस’ पत्रिका इकलौती ऐसी राष्ट्रीय स्तर पर बिकने वाली महिला पत्रिका है जिसकी मालिक व नियंत्रक महिलाएँ ही हैं।

    हर तरह के मसले पर ग्लोरिया की संवेदनशीलता और उनका जोशीला, गंभीर और हाजि़रजवाब अंदाज़ उनके लेखन की पहचान कराते हैं। उनके निबन्ध मूविंग बियॉन्ड वड्र्स : एज, रेज, सेक्स, पावर, मनी, मसल्स : ब्रेकिंग द बाउंड्रज़ ऑ$फ जेंडर (1995), रिवॉल्यूशन फ्रॉम विदिन : अ बुक ऑ$फ सेल्$फ-एस्टीम (1992) और आउटरेजियस एक्ट्स एंड एवरीडे रिबेलियन्स (1983) में संग्रहित हैं। एक सक्रिय लेखक होने के साथ-साथ ग्लोरिया Equality की बोर्ड मेम्बर भी हैं, जो अब महिलाओं का एक वैश्विक मानवाधिकार समूह है; और विमेन्स मीडिया सेंटर की बोर्ड मेम्बर और सह-संस्थापक भी हैं, जिसका काम महिला विरोधी मीडिया को प्रकाश में लाना और उसे बदलना है। वे अपने आप विमेन वल्र्ड वाइड की अध्यक्ष हैं, जो देहव्यापार के लिए होने वाली मानव तस्करी के $िखला$फ बुनियादी स्तर पर काम करने वाली एक भारतीय संस्था है। ग्लोरिया के काम और उनकी उपलब्धियों को सम्मानित करने के लिए साल 2013 में राष्ट्रपति बराक ओबामा ने प्रेसिडेंशियल मेडल ऑ$फ फ्रीडम दिया था।

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna

    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144