• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Panchdevo Ki Mishrit Murtiyan

Panchdevo Ki Mishrit Murtiyan

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 300

Special Price Rs. 270

10%

  • Pages: 176p
  • Year: 2005, 1st Ed.
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 13: PKMM229
  •  
    ' 'पंचदेवों की मिश्रित मूर्तियां ' शीर्षक प्रस्तुत ग्रन्थ में विषय-वस्तुओं के चयन एवं उनके ' अध्यायागत विवेचन में नवीन सूझ-बूझ का परिचय दिया गया है । युग्म एवं संघाट मूर्तियों के ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक विवेचन में उनके नाना प्रकारों, यथा हरिहरि, हरि-ब्रह्मा सूर्य-ब्रह्मा, मार्तण्ड- भैरव की प्रक्रियाओं पर यथाशक्ति नवीन प्रकाश डालने का भरपूर प्रयास किया गया है 1 युग्म मूर्तियों की व्याख्या में सबसे प्रधान हरिहर की चर्चा भारत में ही नहीं, अपितु विदेशों में भी, उदाहरणार्थ मध्य- एशिया तथा दक्षिणपूर्व एशिया में इनकी लोकप्रियता का विस्तृत विश्लेषण किया गया है । हिन्दू तथा बौद्ध धर्म की मिश्रित प्रतिमाओं, यथा शिव-लोकितेश्वर, विष्णु- अवलोकितेश्वर, सूर्य-अवलोकितेश्वर आदि की व्याख्या की गई है । युग्म-मूर्तियों की द्वितीय कोटि के निरूपण के प्रयास में देव अपनी शक्ति के साथ संयुक्त अंकित हैं; यथा शैव अर्द्धनारीश्वर, वैष्णव अर्द्धनारीश्वर तथा शाक्त अर्द्धनारीश्वर का विस्तृत विवरण इस ग्रन्थ में प्राप्य हैं । तृतीय कोटि में वैष्णव एवं शैव मतों की देवियों के संयुक्त मूर्तन; यथा लक्ष्मी-राधिका, गौरी-लक्ष्मी, लक्ष्मी-सरस्वती पर प्रकाश डाला गया है । संघाट मूर्तन में देव एवं देवियों का अंकन; उदाहरणार्थ हरिहर-पितामह, हरिहर पितामहहिरण्यगर्भ, पंचायतन-लिंग, विष्णु का विश्वरूप, शिव का विराटरूप, हरिहराभेद पर प्रकाश डाला गया है । शिल्पशास्त्र, प्रतिमाशास्त्र एवं संस्कृत, पाली, प्राकृत ग्रन्थों का भरपूर अवगाहन इस ग्रन्थ की एक अन्य उल्लेखनीय विशेषता है । आशा है कि यह ग्रन्थ अपने उद्देश्य की पूर्ति में सफल सिद्ध होगा । - सर्वभूत-हित-सुखायास्तु - -भारती कुमारी

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144