• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Islam Ke Dharmik Aayam

Islam Ke Dharmik Aayam

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 595

Special Price Rs. 535

10%

  • Pages: 485p
  • Year: 2012
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 13: 9788180315985
  •  
    इस्लाम के धार्मिक आयाम का समुचित संज्ञान हुसैनी क्रान्ति के परिपेक्ष में ही सम्भव है, जिसके नायक इस्लामी पैगम्बर के सगे नाती हजरत इमाम हुसैन थे, जिन्होंने सत्य एवं न्याय की प्रतिरक्षा में जिहाद किया और अपने सहयोगियों तथा परिवारजनों सहित कर्बला में शहीद हुए । इमाम हुसैन की शहादत के सर्वव्यापी प्रभाव का अनुमान इससे किया जा सकता है कि हजरत ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी ने इमाम हुसैन के व्यक्तित्व को ही वास्तविक इस्लाम माना है-' 'दीन अस्त हुसैन व दीनपनाह अस्त हुसैन । '' हुसैनी क्रान्ति के अनेक आयाम हैं-धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक आदि । इस महत्त्वपूर्ण विषय पर हिन्दी भाषा मैं किसी पुस्तक का नितान्त अभाव रहा है । प्रस्तुत ग्रंथ इस कमी को पूरा ही नहीं करता, वरन् इस महत्वपूर्ण विषय पर यह एक प्रामाणिक दस्तावेज है । विद्वान लेखक प्रो. जाफर रजा ने जिस प्रकार हुसैनी क्रान्ति के उद्देश्यों, घटनाक्रमों एवं निष्कर्षों का वस्तुनिष्ठ एवं निष्पक्ष भाव से विश्लेषण किया है, वह अत्यन्त सराहनीय है । संवेदनशील विषयों पर उनका दृष्टिकोण सन्तुलित, सहज एवं उदार रहा है । जो बात भी कही है, वह ठोस आधार पर प्रामाणिक है । इस्लाम विषयक उनकी विशिष्ट कृतियों के अध्ययन से लगता है कि यही उनका अस्ल मैदान है । इस्लामी इतिहास, धर्म एवं संस्कृति पर उन्हें पूर्ण अधिकार प्राप्त है । हुसैनी क्रान्ति विषयक पुस्तकों में प्रस्तुत ग्रंथ शोधपरक वैज्ञानिक दृष्टि के आधार पर अद्वितीय है । उर्दू ही नहीं, फारसी, अरबी या अंग्रेजी में भी ऐसी कोई पुस्तक उपलब्ध नहीं है । विश्वास है कि हिन्दी-जगत् प्रस्तुत ग्रंथ का स्वागत करेगा । पटना प्रो. वहाब अशरफी 16 फरवरी 2०11

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Jafar Reja

    जाफ़र रज़ा

    प्रख्यात विद्वान, साहित्यकार एवं चिन्तक प्रोफ़ेसर जाफ़र रज़ा का जन्म 1 दिसम्बर, 1939 ई. को इलाहबाद में गंगा पार के उतराँव में हुआ । ये स्वतंत्रता-सेनानी एवं लेखक स्वर्गीय सैय्यद खैरात हसन के सुपुत्र हैं । इलाहाबाद विश्वविद्यालय से उर्दू तथा हिंदी में दो बार 'डॉक्टर ऑफ़ फिलॉसफी' की उपाधियाँ प्राप्त कीं तथा कश्मीर विश्वविद्यालय, श्रीनगर ने प्रकाशित शोधग्रंथों की मान्यतारूपेण 'डॉक्टर ऑफ़ लेटर्स' की उपाधि प्रदान की ।

    इलाहबाद विश्वविद्यालय के गौरवपात्रिक प्रोफ़ेसर जाफ़र रज़ा 35 वर्षों तक अध्यापन कर प्रेमचंद पीठाचार्य एवं उर्दू विभागाध्यक्ष पद से 2000 ई. में सेवानिवृत्त हुए ।

    प्रोफ़ेसर जाफ़र रज़ा का व्यक्तित्व बहुआयामी है । हिंदी तथा उर्दू भाषाओँ एवं साहित्य के अतिरिक्त संस्कृति, इतिहास, दर्शन, इस्लाम धर्म आदि विषयों पर लगभग तीन दर्जन प्रकाशित ग्रन्थ हैं । अनेक बार राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत एवं अलंकृत हुए ।

    कुछेक महत्त्वपूर्ण हिंदी पुस्तकों में भारतीय इस्लामी संस्कृति, इस्लाम का सैद्धान्तिक परिवेश, इस्लाम के धार्मिक आयाम : हुसैनी क्रान्ति के परिप्रेक्ष्य में, भारतीय साहित्य में मुसलमानों का अवदान, कथाकार प्रेमचंद, प्रेमचन्द कहानी का रहनुमा, उर्दू शायरी आज़ादी के बाद, हिंदी-उर्दू शब्दकोश आदि उल्लेखनीय हैं ।

    प्रोफ़ेसर जाफ़र रज़ा की भारतभूमि के प्रति समर्पण, मानवप्रेम में ईशप्रेम की सहज अनुभूति, बरबस भारतेंदु के शब्द स्मृति में गूँजते हैं--इन मुसलमान भक्तजनन पर कोटिन हिन्दू वारिये !

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144