• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Jaishankar Prasad

Jaishankar Prasad

Availability: Out of stock

Regular Price: Rs. 250

Special Price Rs. 225

10%

  • Pages: 146p
  • Year: 2013
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 10: 8180310485
  •  
    जयशंकर प्रसाद 1939 में प्रकाशित आचार्य नन्ददुलारे वाजपेयी की प्रारम्भिक कृति है जो नये संस्करण के साथ साहित्य प्रेमियों, छात्रों के लिये उपलब्ध है । इसमें प्रसाद जी पर लम्बी भूमिका के साथ पंद्रह निबन्ध हैं । कथा साहित्य, उपन्यास, काव्य और नाटकों पर प्रसाद जी के विराट व्यक्तित्व का यह समाकलन है । रचनाकार की अंतःप्रेरणा, अनुसंधान का परिचय इस पुस्तक में प्राप्त है । इस पुस्तक में कवि, कथाकार, नाटककार प्रसाद को संपूर्ण परिवेश में परखा गया है । एक व्यक्ति के इन विभिन्न रंगों में कितनी शालीनता, संस्कार, भाषागत सौष्ठव हमें प्राप्त है, इस पर विस्तृत विवेचन है । अतीत के विशाल चित्रफलक पर पचास वर्षों के लम्बे समय तक उनका साहित्य जगत पर एकछत्र एकाधिकार निःसंदेह गौरव का विषय है ।

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Nand Dulare Vajpayee

    NandDulareVajpayee

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144