• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Mohan Rakesh Aur Unke Natak

Mohan Rakesh Aur Unke Natak

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 300

Special Price Rs. 270

10%

  • Pages: 146p
  • Year: 2015
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 13: 9788180313387
  •  
    मोहन राकेश के नाटकों का यह अध्ययन वस्तुत: हिन्दी नाटक और रंगमंच की पूर्व स्थिति, उसकी उपलब्धियों और सीमाओं को भी सामने लाता है । नाट्यभाषा और रंगमंच के अनेक पक्षों पर विचार करने के लिए यह सम्भवत: विवश करे । नाट्यसमीक्षा का स्वरूप भी इस पुस्तक में परम्परा से एकदम मित्र है । नाट्यसमीक्षा के नये मापदण्ड सामने लाने में ही मोहन राकेश के नाटकों पर यह पुस्तक निश्चय ही मदद करेगी ।

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Girish Rastogi


    प्रो. गिरीश रस्तोगी
    जन्म : 12 जुलाई 1935
    शिक्षा : एम.ए., एमए., पीएचडी.
    भूतपूर्व प्रोफेसर एवं अध्यक्ष, हिन्दी विभाग, गोरखपुर विश्वविद्यालय, गोरखपुर ।
    प्रकाशित कृतियाँ : हिन्दी नाटक का आत्म संघर्ष, नहुष, छायावन, अपने हाथ बिकानी । पुरस्कार : उ .प्र. हिन्दी संस्थान द्वारा ' नहुष' पर महादेवी वर्मा पुरस्कार ( 1989), ' आचार्य रामचन्द्र शुक्ल पुरस्कार ( 1992),' हिन्दी नाटक और रंगमंच : नयी दिशायें नये प्रश्न' पर उ. प्र .संगीत नाटक अकादमी से, उत्कृष्ट निर्देशन के लिए पुरस्कार ( 199०), हिन्दी भाषा और रंगकर्म के लिए सुभद्राकुमारी चौहान पुरस्कार ( 1994) ।
    यात्राएँ : ब्रिस्टल स्कूल ऑफ ड्रामा, लंदन, बेल्जियम, फ्रांस, इटली, स्विटज़रलैंड, रोम इत्यादि ।

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144