• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Authors

per page
  1. 1
  2. 2
  • S. K. Dube 

    एस. के. दुबे

  • S. N. Ganeshan

    S. N. Ganeshan

  • Sachchidanand Parlikar

    डॉ. सच्चिदानंद परळीकर

     जन्मतिथि : 18 जनवरी, 1930

    शैक्षणिक उपलब्धियाँ : एम.ए., पी-एच.डी., साहित्य-रत्न

    34 वर्ष पुणे के प्रसिद्ध फर्ग्युसन महाविद्यालय में हिन्दी विभागाध्यक्ष, स्नातक तथा स्नातकोतर कक्षाओं के प्राचीन तथा आधुनिक हिंदी साहित्य के अध्यापक। पी-एच.डी. तथा पाँच एम्.फिल्. के शोधछात्रों से विविध विषयों पर शोधकार्य करवाया। महाराष्ट्र राष्ट्रभाषा प्रचार समिति का संचालकपद पंद्रह साल सफलता से सम्हाला और राष्ट्रभाषा के प्रचार में योगदान किया। संचालक पद के कार्यकाल में लगभग दो लाख छात्रों को राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा की परीक्षाओं में सम्मिलित कराया। हिन्दी की आजीवन सेवा के लिए महाराष्ट्र राज्य की हिन्दी साहित्य अकादमी के 2002 वर्ष के अनंत गोपाल शेवड़े पुरस्कार से गौरवान्वित। हिन्दी और मराठी में लगभग 200 के ऊपर लेख और 500 के ऊपर व्याख्यान।

    प्रमुख रचनाएँ :

    1. हिन्दी और मराठी के समस्यामूलक उपन्यासों का तुलनात्मक अध्ययन।

    2. बाणभट्ट की आत्मकथा : कुछ विचार एवं अन्य निबंध।

    3. हिंदी के समीक्षात्मक निबंध।

    समर्थ रामदास के प्रति अनन्य भक्ति होने से उनकी जीवनी लिखने की प्रेरणा।

  • Sadanand Sahi

    सदानन्द साही

  • Santosh Kumar Chaturvedi


    डॉ. सन्तोष कुमार चतुर्वेदी
    जन्म : 2 नवम्बर, 1971 ई. को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के हुसेनाबाद गाँव में एक सामान्य कृषक परिवार में ।
    शिक्षा : सम्पूर्ण प्राथमिक शिक्षा गाँव में, उच्च शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से । 'प्राचीन इतिहास, संस्कृति एव पुरातत्व' तथा इतिहास विषय से परास्नातक । एल-एल. बी., पत्रकारिता, एवं जनसंचार में परास्नातक डिप्लोमा, प्राचीन इतिहास से डी. फिल. ।
    गतिविधियाँ : 1997 से 2010 तक 'कथा'  ' पत्रिका के सहायक सम्पादक । जनवरी 2011 से अनियतकालिक साहित्यिक-सांस्कृतिक  'अनहद' का सम्पादन । इलाहाबाद के दूरदर्शन एवं आकाशवाणी केन्द्रों से समय-समय पर कविताओं का प्रसारण ।
    प्रकाशित कृतियाँ द कविता संग्रह 'पहली बार', 'दक्खिन का भी अपना पूरब होता है । '  ' भारतीय संस्कृति' ।
    ' देश भर की प्रतिष्ठित साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं में कविताओं 'का प्रकाशन ।
    पुरस्कार : वर्तमान साहित्य का मलखान सिंह सिसौदिया पुरस्कार 201
    सम्प्रति : उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के मऊ के एम. पी. पी. जी. कॉलेज में इतिहास के विभागाध्यक्ष ।

  • Saroj Singh

    डॉ. सरोज सिंह

    1 जनवरी, 1959 को जन्मी डॉ. सरोज सिंह ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गाँव से व् हाईस्कूल और इन्टरमीडिएट की परीक्षाएँ प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की | तत्पश्चात स्नातक व परास्नातक की परीक्षाएँ इलाहबाद से प्रथम श्रेणी व प्रथम स्थान में पास किया | कथाकार मार्कंडेय के प्रयास से प्रख्यात आलोचक डॉ. रामस्वरुप चतुर्वेदी के निर्देशन में शोधकार्य पूर्ण किया |

    सन 1984 में तिलकधारी कॉलेज, जौनपुर के हिंदी विभाग में प्रवक्ता के पद पर अध्यापन कार्य करने के साथ-साथ विभिन्न साहित्यकारों, कालखंडो और हिंदी सहित्य से सम्बद्ध विषयों पर छात्र-छात्राओं को अपने निर्देशन में शोधकार्य भी करवाया |

    वर्तमान में तिलकधारी कॉलेज में एसोशिएट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं |

  • Satinath Bhadudi

    सतीनाथ भादुड़ी

  • Satyadev Mishra

    डॉ. सत्यदेव मिश्र

    प्रोफेसर सत्यदेव मिश्र का जन्म एक छोटे से गाँव अलाहबाद पुर, एटा (उ.प्र.) में हुआ। आगरा विश्वविद्यालय से बी.ए. परीक्षा उत्तीर्ण करने के उपरान्त उन्होंने एम.ए., पी-एच.डी. (अंग्रेजी), पी-एच.डी. एवं डी.लिट् (हिन्दी) की शोधोपाधियाँ क्रमशः अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी जोधपुर विश्वविद्यालय एवं लखनऊ विश्वविद्यालय से प्राप्त कीं।

    डॉ. मिश्र ने अपने कैरियर का प्रारम्भ अंग्रेजी लेक्चरर से किया। क.मुं. हिन्दी विद्यापीठ (आगरा विश्वविद्यालय) तथा लखनऊ विश्वविद्यालय में वे क्रमशः हिन्दी लेक्चरर, रीडर एवं प्रोफेसर रहे।

    डॉ. मिश्र ने लगभग 18 कृतियों का प्रणयन किया है।

    सम्प्रति: वे लखनऊ विश्वविद्यालय के हिन्दी तथा आधुनिक भारतीय भाषा विभाग में ‘इमेरिटॅस फैलो’ (Emeritus Fellow) (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, नई दिल्ली) के रूप में कार्यरत हैं।

     

  • Satyaprakash Mishra

    डॉ. सत्यप्रकाश मिश्र

  • Shandilyan 

    शाण्डिल्यन

  • Shanti Kumari Bajpai

    जन्म: 2 अक्टूबर, 1919, बरेली (उत्तर प्रदेश)।

    शिक्षा: एम.ए. (हिन्दी), काशी हिन्दू विश्वविद्यालय; प्रारम्भिक शिक्षा महिला कॉलेज, लखनऊ।

    अध्यापन: महिला महाविद्यालय, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (1948 से 1976)।

    प्रकाशित कृतियाँ:

    उपन्यास: व्यवधान, नदी लहरें और तूफ़ान, फूल पराग पंखुड़ियाँ, अरे! यह कैसा मन, घुँघरू

    हिन्दी साहित्य विवेचना: केशव की रामचन्द्रिका पर एक : ष्टि; मैथिलीशरण गुप्त: कवि का कृतित्व

    लघु नाटिका: घर भी एक क्यारी है

    स्वर्गारोहण: 28 जनवरी, 2005 लखनऊ (उत्तर प्रदेश)।

  • Shashiprabha Prasad

    शशिप्रभा प्रसाद

  • Sheshendra Sharma

    जन्म: 20 अक्टूबर, 1927 को आन्ध्र प्रदेश में हुआ। आन्ध्र विश्वविद्यालय से विज्ञान के स्नातक हुए तथा मद्रास विश्वविद्यालय से कानून पास किया। 16 जून, 1971 में अंग्रेजी की प्रसिद्ध कवयित्री राजकुमारी इन्दिरा देवी धनराजगिरि से प्रेम विवाह हुआ जो अपने राजस-चरित्र के कारण भी चर्चा का विषय बना।

    शेषेन्द्र बहुभाषी हैं तथा बहुमुखी प्रतिभा के लेखक भी। साहित्य की सभी विधाओं में प्रणयन। अब तक उनके लगभग तीस ग्रन्थ प्रकाशित। उन्होंने तेलुगु फिल्मों के लिए गीत भी लिखे। भारत की अनेक भाषाओं तथा अंग्रेजी में भी उनकी रचनाएँ अनूदित हुई हैं। उन्होंने सपत्नीक यूरोप की सांस्कृतिक-यात्राएँ कीं। सन् 1977 में वह श्री व्यंकटेश्वर विश्वविद्यालय में ‘विजटिंग प्रोफेसर’ रहे। अनेक वर्षों तक हैदराबाद नगरनिगम के उप-कमिश्नर के पदोपरान्त 1983 में अवकाश ग्रहण किया। ‘कवि-सेना’ नामक उनका काव्य-आन्दोलन तेलुगु भाषा, साहित्य और समाज के लिए विलक्षण सांस्कृतिक प्रयोग है।

    वाल्मीकि और कालिदास उनके सर्वाधिक प्रिय कवि हैं। संगीत उनके एकान्त का सखा है। एक कविता में भले ही अपने को मांसाहारी बताया हो परन्तु जीवन में वह शुद्ध निरामिष है। भूषा, आदतों और रुचियों से वह तेलुगु अवश्य हैं परन्तु व्यक्तित्व से आकण्ठ भारतीय।

  • Shiv Prasad Joshi

    1993 में जनसत्ता से स्वतंत्र पत्रकारिता की शुरुआत। 1995 से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में। भारतीय जनसंचार संस्थान से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा के बाद टीवीआई (बीआईटीवी) न्यूज चैनल, ज़ी न्यूज चैनल, बीबीसी वर्ल्ड सर्विस, सहारा समय न्यूज चैनल और जर्मनी के बॉन स्थित जर्मन रेडियो डॉयचे वेले की हिंदी सेवा में वरिष्ठ पदों पर काम किया। वेबसाइट हिलवाणी के सह संस्थापक। इन दिनों न्यूज एक्सप्रेस चैनल के उत्तराखंड प्रभारी।

    विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं, ब्लॉग्स में सामाजिक सांस्कृतिक राजनैतिक विषयों पर नियमित लेखन। कविताएं, अनुवाद और निबंध प्रकाशित। बॉन (जर्मनी) प्रवास पर डायरी, गद्य-संग्रह और पहला कविता-संग्रह शीघ्र प्रकाश्य।

  • Shiv Vachan Chowbey

    शिव वचन चौबे

     

    बी.एसभ्.सी. (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग) डिप्लोमा (मैनेजमेंट)

    जन्मतिथि : 28.12.1944

    जन्म स्थान : ग्राम गायघाट

    जिला : कैमूर (भभुआ), बिहार

    कृतियाँ : 1. कैकेयी (खण्डकाव्य)

    2. त्रिजटा (महाकाव्य)

    3. रावण जिंदा है (कविता संग्रह)

    4. कनिया काकी (कहानी संग्रह)

    5. शबरी के जूठे बेर (ललित निबंध संग्रह)

    6. महाभारत की विडंबना (ललित निबंध संग्रह)

    7. बाल साहित्य पर कई पुस्तकें।

    संप्रति : अधिशासी निदेशक, पॉवर टांसमिशन कॉरपोरेशेन ऑफ उत्तरांचल, ऊर्जा भवन, कांवली रोड, देहरादून।

    वर्तमान पता : 56 वसंत विहार-2, देहरादून, उत्तरांचल

  • Shivkumar Mishra

    शिवकुमार मिश्र

    जन्म : 2 फरवरी 1931, कानपुर (उ.प्र.) !

    शिक्षा : एम्.एम्. तक की शिक्षा, कानपुर में ! पी.एच-डी. तथा डी. लिट्. सागर विश्वविद्यालय, सागर, म.प्र. से !

    गतिविधियाँ : सन 1959 से सन 1977 तक सागर विश्वविद्यालय में तथा उसके उपरांत 1991 ई. तक सरदार पटेल विश्वविद्यालय, वल्लभ विद्यानगर (गुजरात) में अध्यापन ! भारत सरकार की सांस्कृतिक आदान-प्रदान योजना के तहत 1991 ई. में 15 दिन की सोवियत यूनियन की सांस्कृतिक यात्रा ! राष्ट्रीय अध्यक्ष : जनवादी लेखक संघ !

    साहित्यिक सेवा : 'नया हिंदी काव्य', 'प्रगतिवाद', मार्क्सवादी साहित्य-चिंतन', 'यथार्थवाद', 'प्रेमचंद : विरासत का सवाल', आचार्य शुक्ल और हिंदी आलोचना की परंपरा', 'भक्ति आन्दोलन और भक्ति काव्य', 'मार्क्सवाद देव्मुर्तियाँ नहीं गढ़ता', 'आधुनिक कविता और युग-सन्दर्भ', 'इतिहास, साहित्य और संस्कृति'सहित साहित्य-समीक्षा से सम्बंधित 17 पुस्तकों का लेखन ! साहित्य समीक्षा से सम्बंधित आचार्य नन्ददुलारे वाजपेयी की चार पुस्तकों तथा विदेशी लेखकों की चार पुस्तकों का संपादन-पुनःप्रस्तुति !

    पुरस्कार : 'मार्क्सवादी साहित्य-चिंतन' पुस्तक पर सन 1975 ई. में सोवियत-लैंड नेहरु एवार्ड !

  • Shivprasad Singh

    19 अगस्त, 1928 को जलालपुर, जमानिया बनारस में पैदा हुए शिवप्रसाद सिंह ने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से 1953 में हिन्दी में एम.ए. किया। 1957 में पी-एच.डी. करने के बाद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में ही प्राध्यापक नियुक्त हुए।

    शिवप्रसाद सिंह प्रख्यात शिक्षाविद् तो थे ही, साहित्य के भी शिखर पुरुष रहे हैं। ‘नयी कहानी’ आन्दोलन के स्तंभ शिवप्रसाद जी प्राचीन और समकालीन साहित्य से गहरे सम्पर्कित रहे हैं।

    कुछ समालोचक उनकी कथा-रचना ‘दादी माँ’ को पहली ‘नयी कहानी’ मानते हैं।

    कृति संदर्भ:

    उपन्यास: अलग-अलग वैतरणी, नीला चाँद, मंजुशिमा, शैलूष।

    कहानी-संग्रह: अंधकूप (सम्पूर्ण कहानियाँ, भाग-1), एक यात्रा सतह के नीचे (सम्पूर्ण कहानियाँ, भाग-2)

    आलोचना: कीर्तिलता और अवहट्ठ भाषा, आधुनिक परिवेश और नवलेखन, आधुनिक परिवेश और अस्तित्ववाद।

    निबन्ध-संग्रह: मानसी गंगा, किस-किसको नमन करूँ, क्या कहूँ कुछ कहा न जाए।

    जीवनी: उत्तरयोगी (महर्षि अरविन्द)

    निधन: 28 सितम्बर, 1998

  • Shridhar Bhaskar Varnekar

    श्रीधर भास्कर वर्णेकर

  • Shrikant Yadav

    श्रीकान्त यादव

     आजमगढ़ जिले के चक धरना गाँव में 1987 को जन्म। इंटरमीडिएट तक शिक्षा-दीक्षा प्रायः घर पर पिता जी की देख-रेख में, बी.ए. इलाहाबाद विश्वविद्यालय से तथा एम.ए. काशी हिन्दी विश्वविद्यालय वाराणसी से पूर्ण किया। फिलहाल काशी हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी से ही ‘मन्नू भंडारी के कथा साहित्य में स्त्राी-पुरुष सम्बन्ध’ विषय पर शोध कार्य में संलग्न।

    कथा साहित्य एवं तात्कालीन विमर्शों में विशेष रुचि। विविध पत्रा-पत्रिकाओं एवं पुस्तकों में दर्जनों शोध लेख प्रकाशित। इस समय ‘साम्प्रदायिकता और हिन्दी का कथा साहित्य’ पुस्तक लेखन में संलग्न।

    सम्पर्क: 222/ए3 संगमनगर कॉलोनी नगवाँ, अस्सी वाराणसी-221005 (उ.प्र.)

  • Shrinarayan Sameer

    जन्म: 21 मई, 1959 को महात्मा गांधी के सत्याग्रह आन्दोलन की जन्मस्थली चम्पारण (बिहार) के एक छोटे-से गाँव सागर चुरामन में।

    शिक्षा: प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा गाँव के ही स्कूल में। बिहार विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर से हिन्दी में बी.ए. (ऑनर्स) तथा एम.ए. की उपाधि। बेंगलूर विश्वविद्यालय से ‘अनुवाद: सिद्धान्त और सृजन’ पर पी-एच.डी.।

    कोयला नगरी धनबाद में पत्रकारिता से पेशागत जीवन की शुरुआत। राँची विश्वविद्यालय के पी.के. रॉय मेमोरियल पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज में सात वर्षों तक अध्यापन। हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड के सेवाकाल में ओडिशा के आदिवासी-बहुल सुन्दरगढ़ जिले में हिन्दी माध्यम से वयस्क शिक्षा अभियान के लिए प्रशस्ति। भारत सरकार के श्रम मंत्रालय एवं गृह मंत्रालय के कई अधीनस्थ कार्यालयों में कार्य। केन्द्रीय अनुवाद ब्यूरो के बेंगलूर केन्द्र में ‘एक युग’ से अधिक समय तक सेवा। फिलहाल केन्द्रीय अनुवाद ब्यूरो, नई दिल्ली में निदेशक।

    बाबा नागार्जुन द्वारा संचालित साहित्य-शिविरों की कड़ी में धनबाद कथा शिविर ’85 का आयोजन।

    ‘कतार’ पत्रिका के प्रारम्भिक दस अंकों का सम्पादन।

    ‘भारत दुर्दशा’ और नागार्जुन के कविकर्म पर महत्त्वपूर्ण लेखन कई विश्वविद्यालयों के स्नातक तथा स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में सन्दर्भ-सामग्री के तौर पर अनुशंसित।

    प्रमुख पत्रिकाओं में शताधिक लेख प्रकाशित और कई पुस्तकों में संकलित।

    बेंगलूर, हैदराबाद, गोवा स्थित कई विश्वविद्यालयों में विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में व्याख्यान।

    प्रकाशित पुस्तकें: अनुवाद: अवधारणा एवं विमर्श; अनुवाद और उत्तर-आधुनिक अवधारणाएँ; हिन्दी: आकांक्षा और यथार्थ; अनुवाद की प्रक्रिया, तकनीक और समस्याएँ।

    प्रकाशनाधीन: अनुवाद: सिद्धान्त और सृजन; साहित्य की सांस्कृतिक भूमिका।

    सम्प्रति: निदेशक, केन्द्रीय अनुवाद ब्यूरो, भारत सरकार, नई दिल्ली।

  • Shrinaresh Mehta

    श्रीनरेश मेहता

    जन्म: 15 फरवरी, 1922 को शाजापुर (मालवा) में हुआ।

    शिक्षा: आरम्भिक शिक्षा कई स्थानों पर हुई और बाद में माधव कॉलेज, उज्जैन से इण्टरमीडिएट किया। आपने काशी विश्वविद्यालय से हिन्दी में एम.ए. किया। यहाँ आप पर अपने गुरु श्री केशवप्रसाद मिश्र का गहरा प्रभाव पड़ा। श्री मिश्रजी वेद एवं उपनिषदों के ज्ञाता एवं प्रकाण्ड पंडित थे।

    गतिविधियाँ: उज्जैन में ही आप स्वाधीनता-आन्दोलन (1942) में छात्र-नेता के रूप में सक्रिय हुए। सन् 1948 से 53 तक आप आकाशवाणी के विभिन्न केन्द्रों पर कार्यक्रम अधिकारी रहे। 1955 तक आप वामपंथी राजनीति से भी सम्बद्ध रहे। विद्यार्थी-काल में वाराणसी से प्रकाशित दैनिक ‘आज’ और ‘संसार’ में कार्यरत रहे। सन् 1953 में सरकारी सेवा से मुक्त होकर कुछ समय के लिए गाँधी प्रतिष्ठान से जुड़े और तत्पश्चात् राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस के प्रमुख साप्ताहिक ‘भारतीय श्रमिक’ के प्रधान सम्पादक रहे। साथ ही ‘कृति’ एवं ‘आगामी कल’ जैसी प्रतिष्ठित पत्रिकाओं का सम्पादन किया।

    पुरस्कार/सम्मान: म.प्र. शासन सम्मान, सारस्वत सम्मान, म.प्र. शासन शिखर सम्मान, उ.प्र. शासन संस्थान सम्मान। 1985 में हिन्दी साहित्य सम्मेलन का मंगला प्रसाद पारितोषिक, केन्द्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार, उ.प्र. शासन का सर्वोच्च ‘भारत भारती’ सम्मान, म.प्र. नाटक लोककला अकादमी द्वारा अलंकृत, म.प्र. हिन्दी साहित्य सम्मेलन का ‘भवभूति अलंकरण’, और सन् 1992 में भारतीय ज्ञानपीठ का सर्वोच्च साहित्य पुरस्कार।

    साहित्य सेवा: सन् 1959 से 85 तक आपने इलाहाबाद में रहकर स्वतन्त्र लेखन किया। 1985 से फरवरी, 1992 तक प्रेमचन्द सृजनपीठ के निदेशक रहे। प्रमुख दैनिक ‘चौथा संसार’ के प्रधान सम्पादक भी रहे। काव्य, खण्डकाव्य, उपन्यास, एकांकी, कहानी, निबन्ध, यात्रा-वृत्तांत आदि विधाओं में 40 से ज्यादा रचनाएँ प्रकाशित।

    निधन: 22 नवम्बर, 2000

  • Shriprakash Mishra

    श्रीप्रकाश मिश्र
    जन्म : 1 सितम्बर, 1950
    शिक्षा : पडरौना जिले के जड़हा नामक ग्राम के निवासी एम.ए. और एल-एल.एम. इलाहाबाद विश्वविद्यालयसे।
    गतिविधियाँ : बंगलादेश की स्वतंत्रता की लड़ाई में मुक्तवाहिनी के साथ रहे हैं। केन्द्रीय सरकार की सेवा में रहते हुए पूर्वोत्तर प्रांतों, कश्मीर, उत्तराखंड, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश के अलावा बंगला देश, भूटान और कोसोवो में रहें हैं। इलाहाबाद से कविता की अनियतकालीन पत्रिका 'उन्नयन निकालते हैं । प्रकाशित साहित्य : मूलत: कवि, इनका कविता संग्रह 'मौन पर शब्द' (1987) और 'शब्द के बारीक तारों से' (2009) प्रकाशित हैं। इसके अलावा दो उपन्यास मिजोरम की पृष्ठभूमि में 'जहां बांस फूलते हैं' (1997) और खासी हिल्स की पृष्टभूमि में 'रूपतिल्ली की कथा'  . 2005, आलोचना की पुस्तकें 'यह जो आ रहा है हरा (1२९, और 'युग की नब्ज'  (2010) भी प्रकाशित हैं। कई भाषाओं के जानकार हैं और उनसे रचनाओं का अनुवाद भी कियाहै।
    पत्राचार का पता : 406 त्रिवेणी रोड, कीटगंज, इलाहाबाद (उप्र.) ।
    दूरभाष : 0532-2417543

  • Shriprakash 


    श्री प्रकाश
    जन्म : इलाहाबाद के कटरा क्षेत्र में 12 मई,  1934 को ।
    शिक्षा : इलाहाबाद विश्वविद्यालय से, हिन्दी, अंग्रेजी व राजनीति शास्त्र से स्नातक तथा हिन्दी साहित्य से परास्नातक ।
    गतिविधियाँ : पूर्व महासचिव, इलाहाबाद पत्रकार संघ (यूपी. डबल्यू) जे. यू तथा आई .एफ .डब्ल्यू जे. से सम्बद्ध), महासचिव, नारायण दत्त तिवारी जन महाविद्यालय एवं विकास समिति, वयोवृद्ध पत्रकार । अनेक वर्षों तक अंग्रेजी दैनिक ' द लीडर' के सम्पादकीय विभाग में प्रमुख उपसम्पादक के पद पर कार्यरत । स्वयं सायंकालीनने दैनिक ' मेलजोल सांध्य समाचार' तथा ' नया खून' दैनिकों का अनेक वर्षों तक सम्पादन-प्रकाशन । मासिक पत्र 'रहस्य रोमांच' का भी अनेक वर्षों तक सम्पादन तथा प्रकाशन ।
    साहित्य सेवा : मुद्रा सिद्धान्त-उ .प्र. हिन्दी संस्थान् द्वारा प्रकाशित ।
    अँधेरी गलियाँ मधुमास के बीते दिवस, आस्या बहादुर टॉम सत्य अहिंसा और प्रेम, मुसोलिनी की प्रेम कथाएँ विकास समर्पित नारायण दत्त तिवारी (हिन्दी), डिवोटी आफ डेवलपमेंट नारायण दत्त तिवारी (अंग्रेजी) परस्तार- ए- तरक्‍कियात नारायण दत्त तिवारी (उर्दू), जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गाँधी राजीव गाँधी शंकर दयाल शर्मा तथा अन्य अनेक महत्त्वपूर्ण राष्ट्र- सेवकों पर अंग्रेजी-हिन्दी में लेख, ' द्वीप का रहस्य' (अगाथा क्रिस्टी के उपन्यास का अनुवाद) हिन्दी पत्रकारिता तथा रचनात्मकता सद्य: प्रकाश्य ।
    वर्तमान में 'स्टाप प्रेस' तथा ' जहरा बुआ उपन्यास लेखन में संलग्न ।

  • Shriram Mehrotra

    श्रीराम मेहरोत्रा

  • Shyam Kishor Seth

    श्री श्याम किशोर सेठ
    जन्म-स्थान : मिर्जापुर । इलाहाबाद विश्वविद्यालय से बीए, और एम.ए. की डिग्री प्राप्त करके सन्  1954 में यहीं पर दर्शन विभाग में प्रवक्ता नियुक्त हुए । 35 वर्ष से अधिक अध्यापन कार्य के पथार सन् 1990 में सेवानिवृत्त हुए । तर्कशास्‍त्र, ज्ञानमीमांसा, नीतिशास्र तथा धर्मदर्शन इनकी अभिरुचि के विशेष क्षेत्र रहे हैं । इनके निर्देशन में कई विद्यार्थी डी.फिल. की उपाधि प्राप्त कर चुके हैं और कुछ अभी शोधकार्य में संलग्न हैं ।
    ' विभित्र दर्शनिक समस्याओं पर श्री सेठ ने अनेक लेख लिखे हैं जो हिंदी व अंग्रेजी की पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए । आकाशवाणी से भी दर्शन संबंधी इनकी कुछ वार्ताएँ प्रसारित हुई । आपने डॉ. नीलिमा मिश्र के साथ 'ज्ञान-दर्शन 'Philosophy of Knowledge' डस' 'तर्कशास्‍त्र-एक आधुनिक परिचय एवं ईश्वर, स्वतंत्रता और अमरत्व : एक तत्वदार्शनिक अध्ययन' नामक तीन पुस्तकों का लेखन भी किया है ।
    श्री सेठ 'इंडियन फिलॉसॉफिकल काँग्रेस और  'अखिल भारतीय दर्शन परिषद' के आजीवन सदस्य हैं और वे 1999 में 'उत्तर भारत दर्शन परिषद' के गोरखपुर अधिवेशन के अध्यक्ष थे ।
    डॉ. नीलिमा मिश्र
    पिछले तेईस वर्षों से जगत तारन गर्ल्स डिग्री कॉलेज, इलाहाबाद में दर्शनशास्र का प्राध्यापन कर रही हैं । इलाहाबाद विश्वविद्यालय से एम.ए. करने के बाद अस्तित्वादी विचारक ज्याँ पॉल सार्त्र पर इनके शोध पर इसी विश्वविद्यालय द्वारा डीफिल. की उपाधि प्रदान की गयी । राष्ट्रीय स्तर के विभिन्न सेमिनार एवं गोष्ठियों में इन्होंने अनेक शोधपत्र प्रस्तुत किये तथा 'इंडियन फिलॉसॉफिकल क्वाटरली' व 'परामर्श' सहित अनेक दार्शनिक पत्रिकाओं में इनके लेख प्रकाशित हुए हैं । डॉ. मिश्र ने श्री श्याम किशोर सेठ के साथ 'ज्ञान दर्शन 'Philosophy of Knowledge' ''तर्कशास्‍त्र-एक आधुनिक परिचय एवं ईश्वर, स्वतंत्रता और अमरत्व : एक तत्वदार्शनिक अध्ययन नामक पुस्तकों का लेखन भी किया है । आप ' इंडियन फिलॉसॉफिकल काँग्रेस' और ' अखिल भारतीय दर्शन परिषद' की आजीवन सदस्या हैं ।

  • Siddhya Puranik

    Siddhya Puranik

  • Siyaramsharan Gupt


    श्री सियारामशरण गुप्त
    जन्म : 1895, चिरगाँव, झांसी, उत्तर प्रदेश देहावसान : 29 मार्च, 1963
    श्री सियारामशरण गुप्त राष्ट्रकवि श्री मैथिलीशरण गुप्त के छोटे भाई थे । कवि, कथाकार और निबन्ध लेखक के रूप में उन्होंने अपना विशिष्ट स्थान बना लिया था । उनकी प्रमुख कृतियाँ हैं: -
    काव्य : मौर्य-विजय, अनाथ, दूर्वाद्रल, विषाद, आर्द्रा, आत्मोत्सर्ग, पाथेय, मृणमयी, बापू उलूक, दैनिकी, नकुल, नोआखली में, जयहिन्द, गीता-संवाद, गोपिका, अमृत-पुत्र । उपन्यास-गोद, अंतिम आकांक्षा, नारी ।
    कहानीसंग्रह - मानुषी ।
    निबन्ध संग्रह - झूठ-सच ।
    नाटक - पुण्य पर्व ।
    श्री सियारामशरण गुप्त की रचनाओं में उनके व्यक्तित्व की सरलता, विनयशीलता, सात्विकता और करुणा सर्वत्र प्रतिफलित हुई है । वास्तव में गुप्त जी मानवीय संस्कृति के साहित्यकार हैं । उनकी रचनाएं सर्वत्र एक प्रकार के चिन्तन, आस्था-विश्वासों से भरी हैं, जो उनकी अपनी साधना और गांधी जी के साध्य साधन की पवित्रता की गूंज से ओत-प्रोत हैं ।

  • Smriti Sharma

    रचनात्मक व सृजनात्मक व्यक्तित्व की धनी, अद्वितीय प्रतिभा से सम्पन्न, संगीत साधिका स्मृति शर्मा का जन्य 30 मई सन् 1980 को मध्यप्रदेश स्थित सतना जिला के ग्राम किरहाई (अमरपाटन) में हुआ ।

    प्राथमिक शिक्षा गॉव में माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा रीवा में सम्पन्न हुई । वर्ष 2004 में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा संचालित नेट परीक्षा उत्तीर्ण कर ठाकुर रणमत सिंह महाविद्यालय रीवा में अतिधि आचार्य के रूप में अध्यापन कार्य करते हुए "भारतीय संगीत में अनाहतनाद” विषय पर शोध किया । इसी काल खण्ड में कैंसर जैसी घातक बीमारी की वेदना झेलते हुए 26 अप्रैल, 2012 को संसार को अलविदा कह दिया । 32 वर्ष से कम समय के जीवन में अनुभव में आये आत्मा के गूढ़ रहस्यों की तहों को इस पुस्तक में खोला है ।

    मेरे-तेंरे में उलझा मन इस सत्य को नहीं जानता कि नाशवान शरीर के पीछे निराकार अविनाशी आत्मा है, इसे जानने के लिए इन्होंने संगीत और साहित्य, विज्ञान और दर्शन, ज्ञान और भक्ति तथा धर्म और कर्म का संयोजन किया । इन्होंने स्थानीय एवं राट्रीय स्तर की कईं सामाजिक एवं शैक्षणिक परिचर्चाओं में हिस्सा लिया । अवधेश प्रताप सिह विश्वविद्यालय रीवा, द्वारा इनके शोध पर डॉक्टर आँफ फिलासफी की उपाधि से विभूषित किया गया ।

     

  • Somnath Gupta

    सोमनाथ गुप्त

    1905 ई. में अमरोहा (उत्तर प्रदेश) में जन्में सोमनाथ गुप्त की शिक्षा प्रयाग तथा आगरा विश्व विद्यालय में हुई !

    राजस्थान में अनेक वर्षों तक हिंदी के प्राध्यापक रहे !

    नाटक के सम्बन्ध में किया गया आपका कार्य उल्लेखनीय है, जो 'हिंदी नाटक का इतिहास' नाम से 1950 ई. में प्रकाशित हुआ !

  • Sudha Patvardhan

    सुधा पटवर्धन

per page
  1. 1
  2. 2
loading...
Authors
  1. Adya Swaroop Pandey
  2. Ajit Pratap Singh
  3. Akhilesh Nigam 'Akhil'
  4. Ali Ahmed Fatami
  5. Alice Munro
  6. Alok Yadav
  7. Anand Amitesh
  8. Anand Prakash Gaud
  9. Arun Bagachi
  10. Arvind Singh Tejawat
  11. Asha Gupta
  12. Ashok Singh
  13. Ashutosh Rai
  14. Balshori Reddy
  15. Bhairavprasad Gupt
  16. Bimal Mitra
  17. Bimal De
  18. Brahmdev Mishra
  19. Brajeshwar Verma
  20. Budhadev Guha
  21. C. M. Yohannan
  22. Champa Shrivastav
  23. Chandroya Dikshit
  24. Chitra Chaturvedi
  25. Deepak Kumar Pandey
  26. Dharmanand Kosambi
  27. Dr. Achala Nagar
  28. Dr. Ajay Kumar Singh
  29. Dr. Bhanushankar Mehta
  30. Dr. C. Narayan Reddy
  31. Dr. H. M. Kumar Goswami
  32. Dr. Heramb Chaturvedi
  33. Dr. Hiralal Shukla
  34. Dr. Krishnadev Upadhyay
  35. Dr. Laxmi Gautam
  36. Dr. Malvika
  37. Dr. Mathuradatt Pandey
  38. Dr. Naresh Mehta
  39. Dr. P. Lata
  40. Dr. Pramod Kumar Agarwal
  41. Dr. Pramod Kovaprat
  42. Dr. Ranjit
  43. Dr. Ratna
  44. Dr. Sharad Nagar
  45. Dr. Shyam Manohar Pandey
  46. Dr. Shyam Sundar Das
  47. Dr. V. C. Sinha
  48. Ehtesham Hussain
  49. Firaq Gorakhpuri
  50. G. Gopinathan
  51. Ganesh Pandey
  52. Gangaprasad Pandey
  53. Ganpati Chandra gupt
  54. Girish Rastogi
  55. Gopinath Shrivastava
  56. Govind Chandra Pandey
  57. Govind Pal Singh
  58. Hardev Bahari
  59. Hemant Dwivedi
  60. Ilachandra Joshi
  61. Iqbal Ahmed
  62. J. Harikumar
  63. Jagannath Das Ratnakar
  64. Jagdish Gupta
  65. Jainendra Kumar
  66. Jairam Mishra
  67. Janardan Upadhyay
  68. Jhunni Lal Verma
  69. Jyotishwar Mishra
  70. K. D. Singh
  71. K. S. Somnathan Nayar
  72. Kailash Nath Pandey
  73. Kailash Gautam
  74. Kamla Markande
  75. Kamta Prasad Guru
  76. Kanhaiya Singh
  77. Kanta Bharati
  78. Kantapant
  79. Kapila Vatsyayan
  80. Kartik Chandra Dutt
  81. Kashinath Ambalge
  82. Keshav Kalidhar
  83. Keshavchandra Verma
  84. Kishori Lal Gupt
  85. Krishna Bihari Mishra
  86. Krishnakant Eklavya
  87. Krishnakant 'Eklavya'
  88. Krishnakant 'Eklavya'
  89. Kumar Nirmalendu
  90. Lalit Shukl
  91. Laxmikant Verma
  92. M. S. Vishvambharan
  93. Madhav Sontake
  94. Madhuresh
  95. Mahaveer Saran Jain
  96. Malti Singh
  97. Manoj Pandey
  98. Markandey
  99. Meera Shrivastava
  100. Mohan Singh
  101. N. N. Mishra
  102. Nandita Singh
  103. Narendra Kohli
  104. Naseem Saketi
  105. Navin Mishra
  106. Nimai Bhattacharya
  107. Nimai Mukhopadhyay
  108. Nirbhay Kumar
  109. Omprakash Singh
  110. P. N. Singh
  111. P. Ravi
  112. Padamsingh Sharma
  113. Pahadi
  114. Pallavi Srivastva
  115. Parmanand Chaturvedi
  116. Prabhakar Machve
  117. Prakash Dixit
  118. Prakashwati Paal
  119. Pramod Trivedi
  120. Pranay Krishna
  121. Prem Suman Jain
  122. Pushppal Singh
  123. R. K. Pandey
  124. R. Sh. Kelkar
  125. Rachana Anand Gaud
  126. Raghuvansh
  127. Rajbali Pandey
  128. Rajdev Singh
  129. Rajendra Kumar
  130. Rajkamal Rai
  131. Rajkumar Kumbhaj
  132. Ram Bachan Verma
  133. Ram Kamal Rai
  134. Ramakant Roy
  135. Ramdev M. A.
  136. Rameshwarlal Khandelwal
  137. Ramji Prasad Bhairav
  138. Ramkeval Sharma
  139. Ramkishor Sharma
  140. Ramkrishna Aggarwal
  141. Rammanohar Lohiya
  142. Ramprakash 'Prakash'
  143. Ramprakash 'Prakash'
  144. Rampratap Tripathi 'Shastri'
  145. Ramswarup Chaturvedi
  146. Ramvriksha Benipuri
  147. Ravindranath Mishra
  148. Razia Sajjad Zahir
  149. Rekha Khare
  150. Rene Wellek
  151. Renu Anshul
  152. Richa Dwivedi
  153. Romain Rolland
  154. S. K. Dube
  155. S. N. Ganeshan
  156. Sachchidanand Parlikar
  157. Sadanand Sahi
  158. Santosh Kumar Chaturvedi
  159. Saroj Singh
  160. Satinath Bhadudi
  161. Satyadev Mishra
  162. Satyaprakash Mishra
  163. Shandilyan
  164. Shanti Kumari Bajpai
  165. Shashiprabha Prasad
  166. Sheshendra Sharma
  167. Shiv Prasad Joshi
  168. Shiv Vachan Chowbey
  169. Shivkumar Mishra
  170. Shivprasad Singh
  171. Shridhar Bhaskar Varnekar
  172. Shrikant Yadav
  173. Shrinarayan Sameer
  174. Shrinaresh Mehta
  175. Shriprakash Mishra
  176. Shriprakash
  177. Shriram Mehrotra
  178. Shyam Kishor Seth
  179. Siddhya Puranik
  180. Siyaramsharan Gupt
  181. Smriti Sharma
  182. Somnath Gupta
  183. Sudha Patvardhan
  184. Sudhakar Adeeb
  185. Sudhanshu Upadhyay
  186. Sukhmay Bhattacharya
  187. Sunil Gangopadhyay
  188. Sunil Vikram Singh
  189. Suryaprasad Dixit
  190. Sushila Gupta
  191. Tippeswami
  192. Udai Narayan Tiwari
  193. Udai Narayan Rai
  194. Uma Sukla
  195. Urvashi Surti
  196. V. Gangadharan
  197. Vachaspati Gorala
  198. Vaikukam Muhammad Bashir
  199. Vasudev Sharan Agarwal
  200. Vedwati Rathi
  201. Vijaydev Narayan Sahi
  202. Vinamra Sen Singh
  203. Vinod Tiwari.
  204. Vipin Kumar Agarwal
  205. Vishnukant Shastri
  206. Vishvambhar Manav
  207. Yaduvansh Sahaya
  208. Yash Malviya
  209. Yashpal
  210. Yogendra Singh
  211. Yogendra Sharma
  212. Yogendra Pratap Singh
  213. Yogi Mahajan
  214. Yugeshwar
  215. Zafar Raja
    • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
    • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
    • Funda An Imprint of Radhakrishna
    • Korak An Imprint of Radhakrishna
Location

Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
Daryaganj, New Delhi-02

Mail to: info@rajkamalprakashan.com

Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

Fax: +91 11 2327 8144