• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Suitcase Mein Zindagi

Suitcase Mein Zindagi

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 250

Special Price Rs. 188

25%

  • Pages: 285
  • Year: 2019, 1st Ed.
  • Binding:  Paperback
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Lokbharti Prakashan
  • ISBN 13: 9789388211390
  •  
    कहने को तो 'सूटकेस में जिन्दगी' यात्रा संस्मरण है, जीवन में आये छोटे बड़े पड़ावों, चीजों, जगहों और प्यार भरे लोगों के ' 'जीवन का यह एक छोटा सा इतिहास' ' भी है । इस यात्रा में गाँव-कस्बे हैं, छोटे-छोटे शहर आत्मीयता से मौजूद हैं । लखनऊ, इलाहाबाद, काशी, अयोध्या भी है । आगरा, ग्वालियर और भिंड भी । मुरादाबाद, नैनीताल और अल्मोड़ा के होने की अपनी वजहें भी हैं । दिल्ली है, जहाँ सब कुछ जा कर खो जाता है । लेकिन लेखक का मन ज्यादा रमता है अंतरंग इलाहाबाद में, जो न सिर्फ पचास सालों से ज्यादा भारतीय राजनीति के केन्द्र में रहा है, औसत उत्तर भारतीय युवा की आशा- निराशा का भी केन्द्र रहा है । जहाँ संगम है, कुम्भ है । एक छात्रावासी का सोना-जागना है, विश्वविद्यालय की धड़कने सुनायी पड़ रही हैं । इस यात्रा में जीवन रूढ़ियाँ हैं, घिसी-पिटी परम्पराओं पर चोटें हैं और वह भी एक अजब खिलंदड़ेपन के साथ; इस दौरान परिवेश को अपनी पैनी नजर से टटोलने की भी प्रक्रिया चलती रहती है और इसी बहाने लेखक की खुद की बनावट-बुनावट का उसके अपने बनने की प्रक्रिया का भी पता चलता है । आपबीती- जगबीती का जो वृत्तांत यहाँ है, उसकी पृष्टभूमि में है वह दुनियां, जिसमें हम जी रहे हैं । जिन विकट मुश्किलों में हम घिरे हुये हैं । इसके साथ ही, यथास्थिति को बनाये रखने, बदलाव की प्रक्रिया को धीमा करने जैसी साजिशों की पड़ताल भी चलती रहती है । हेमन्त द्विवेदी का मन कविता में ज्यादा रमता है । इसकी छापें यहाँ भी हैं और जो बात कहने की नहीं है वह यह कि सारी आसानियों-दुश्वारियों के बाद भी रहना इसी दुनिया में है । ' 'मुझे तुम्हारा स्वर्ग नहीं चाहिये । मैं मनुष्य हो गया हूँ और धरती पर रहना चाहता हूँ ।,'

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Hemant Dwivedi

    हेमन्त द्विवेदी

     जन्म : 1961 ई. शहर इटावा (उ.प्र.)

    शिक्षा : ग्राम रोशनाबाद, फर्रुखाबाद तथा ग्राम मंझना के एस.के. इंटर कॉलेज से। एम.एस.सी. (मैथ्स) इलाहाबाद विश्वविद्यालस सै।

    प्रकाशित साहित्य : कविता-संग्रह—आशंका के द्वीप, सीढ़ी दर सीढ़ी, अर्द्ध कथानक, सर्व लाईट (पुरस्कृत), अँधेरे में औरत (पुरस्कृत)। यात्रा वृतान्त—सूटकेस में जिन्दगी। व्यंग्य-संग्रह—लाल फीता। शीघ्र प्रकाश्य—रामायण (काव्य नाटक), इंटरवल (लेख एवं वक्तव्य), कन्फेशन (व्यंग्य-संग्रह), सृजनशील (काव्य-संग्रह)।

    सम्प्रति : उत्तर प्रदेश शासन की सेवा में।

    पत्राचार का पता : हेमनत कुमार 1/5 सचिवालय कॉलोनी, टाइप-4, सेक्टर-डी, सीतापुर रोड स्कीम, रिंग रोड, लखनऊ।

    मो. : 91-9451155220

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144