• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Reetikaleen Sahitya Kosh

Reetikaleen Sahitya Kosh

Availability: Out of stock

Regular Price: Rs. 600

Special Price Rs. 540

10%

  • Pages: 705p
  • Year: 1997
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Radhakrishna Prakashan
  • ISBN 13: 8171193358
  •  
    रीतिकालीन साहित्य कोश शोध छात्रों, अध्येताओं के लिए एक अनिवार्य ग्रंथ।

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Vijaypal Singh

    डॉ. विजयपाल सिंह

    जन्म: 21 जून, 1923, ग्राम बनवारीपुर, जलेसर, एटा (उ.प्र.)।

    शिक्षा: एम.ए. (हिंदी) प्रथम श्रेणी, एम.ए. (संस्कृत) प्रथम श्रेणी, पी-एच.डी., डी.लिट्.।

    कार्यक्षेत्र: श्री  वेंकटेश्वर विश्वविद्यालय, तिरुपति (आंध्र) तथा काशी हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी के पूर्व प्रोफेसर एवं हिंदी विभागाध्यक्ष (सन् 1960-1983 ई.)।

    रचनाएँ: केशव और उनका साहित्य (दो बार पुरस्कृत), केशव का आचार्यत्व (पुरस्कृत), केशव की काव्य चेतना (पुरस्कृत), केशव-कोश (पुरस्कृत), केशव-समग्र, सामान्य हिंदी, रीतिकालीन साहित्य कोश, रामचन्द्रिका, कवि प्रिया तथा रसिक प्रिया की टीकाएँ, हिंदी अनुसंधान, पाश्चात्य काव्यशास्त्र, भारतीय काव्यशास्त्र, संस्कृत साहित्य का इतिहास।

    संपादन: कथा-एकादशी, श्रेष्ठ कहानियाँ, श्रेष्ठ एकांकी, रीतिकाव्य संग्रह, साहित्यिक रेखाचित्र, बिहारी वैभव, काशी हिंदी विश्वविद्यालय की शोध पत्रिका के अनेक वर्षों तक प्रधान संपादक।

    विदेश यात्राएँ: रूस 1974, मॉरिशस 1976, नेपाल की अनेक बार यात्राएँ।

    सम्मान: वेंकटेश्वर से विश्वनाथ: डॉ. विजयपाल सिंह अभिनंदन ग्रंथ।

    निधन: 29 दिसम्बर, 2008

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144